- Advertisement -
GK/GSभारत में वायु परिवहन | भारत के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (International Airport...

भारत में वायु परिवहन | भारत के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (International Airport in India)

वायु परिवहन यात्रियों तथा वस्तुओं के परिवहन का तीव्रतम साथी है। इससे न केवल देश के विभिन्‍न भाग एक-दूसरे के संपर्क में आए हैं बल्कि विश्व के विभिन्‍न देशों के मध्य भी दूरी कम हुई है। भारत जैसे विशाल तथा विविध उच्चावच वाले देश के लिए यह महत्वपूर्ण परिवहन साधन है।

भारत में वायु परिवहन के विकास का इतिहास 1911 ई. से प्रारंभ होता है। इस वर्ष इलाहाबाद से नैनी तक वायुयान द्वारा डाक शुरू की गयी थी।

वर्ष 1953 में सरकार ने इस क्षेत्र में कार्यरत 8 कंपनियों का राष्ट्रीयकरण किया तथा दो निगमों एअर इंडिया तथा इंडियन एयर लाइंस का गठन किया।

एयर इंडिया का विदेशी विमान सेवा तथा इंडियन एयर लाइंस का देशी एवं निकटवर्ती देशों की विमान सेवा में विशेषीकरण था।

भारत सरकार ने वर्ष 1994 से “मुक्त आकाशनीति’ को स्वीकार किया है। जिससे विमान क्षेत्र में निजी निवेश प्रारंभ हुआ है। कुछ प्रमुख निजी विमानन कंपनियां इस प्रकार है

  • इंडिगो
  • पैरामाउण्ट एयरवेज
  • गो एयर
  • किंगफिशर एयरलाइंस
  • स्पाइस जेट
  • जेट लाइट (यह देश में सबसे बड़ी विमानन कंपनी हो गई है। यह बाजार के 42% भाग पर अधिकार रखती है।

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया, इसकी स्थापना 1 अप्रैल 1995 में हुई। इसका प्रमुख कार्य हवाई अड्डों और नागरिक इन्क्लेव्स की डिजाइन, विकास कार्यान्वयन एवं प्रबन्धन करना है।

27 अगस्त, 2007 को एयर इण्डिया ओर इण्डियन एयनलाइन्स के विलय द नेशनल एविएशन कम्पनी ऑफ इण्डिया लिमिटेड अस्तित्व में आयी।

नवम्बर 2010 में इसका नाम एयर इंडिया लिमिटेड कर दिया गया। फिर घरेलू व अन्तर्राष्ट्रीय उड़ानों के लिए एयर इंडिया लि. का ब्रांड नाम “एयर इंडिया’ कर दिया। इसका मुख्यालय दिल्ली व निगमित कार्यालय मुम्बई में है।

नये एयर लाइन का लोगो “ नारंगी कोणार्क चक्र युक्त लाल रंग का उड़ता हुआ हंस ” है

इसकी प्रमुख सहायक कंपनियां निम्नलिखित है

1 होटल कॉरपोरेशन ऑफ इण्डिया लिमिटेड

2 एयर इण्डिया एयर ट्रांसपोर्ट सर्विस

3 एयर इण्डिया इंजीनियरिंग सर्विसेज लिमिटेड

4 एयर इण्डिया चार्टर्स लिमिटेड

5 एयर लाइन एलाइड सर्विसेज मिलिटेड

6 आई ए एल एयर पोर्ट सर्विसेज लिमिटेड

7 वायुदुत लिमिटेड

इन्हें भी देखें – भारत में उद्योग (bhaarat mein udyog)

ग्रीन एयरपोर्ट

ऐसे हवाई अड्डे जहाँ पर कार्बन उत्सर्जन को कम करने की विधियों का प्रयोग किया गया है। ग्रीन फील्ड एयरपोर्टकहलाते है। जैसेराजीव गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा, हैदराबाद (एशिया का प्रथम ग्रीन एयरपोर्ट )।

वर्तमान में, भारत में अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डों की संख्या 19 है। इनमें से 13 का प्रबंधन एयरपोर्ट अथारिटी ऑफ इंडिया करतीहै तथा 6 का प्रबंधन निजी कम्पनियों के हाथ में है। हवाई अड्डे निम्नलिखित तालिका में दिये गये हैं

भारत के प्रमुख अन्तर्राष्ट्रीय भारत के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (International Airport in India)


हवाई अड्डा स्थान
इंदिरा गाँधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा नई दिल्ली
छत्रपति शिवाजी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा मुंबई
नेता जी सुभाष चंद्र अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा कोलकाता
अन्ना अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा चेन्नई
राजीव गाँधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा हैदराबाद
बंगलुरु अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा बंगलुरु
वीर सावरकर अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा पोर्टब्लेयर
लोकप्रिय गोपीनाथ बारदोलाई अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा गुहावटी
दाबोलिम अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा गोवा
सरदार बल्लभ भाई पटेल अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा अहमदबाद
श्री नगर अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा श्रीनगर
मंगलोर अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा मंगलोर
कोचीन अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा कोच्चि
कालीकट अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा कोझीकोड
त्रिवेंद्रम अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा तिरुवनन्तपुरम
देवी आहिल्या अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा इंदौर
बाबा साहब अम्बेडकर अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा नागपुर
जयपुर अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा जयपुर
कोयम्बटूर अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा कोयंबटूर
तिरुचिरापल्ली अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा तिरुचिरापल्ली
चौधरी चरण सिंह अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा लखनऊ
लाल बहादुर शास्त्री अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भुवनेस्वर
बीजू पटनायक अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भुवनेश्वर
जयप्रकाश नारायण अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा पटना
गया अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा गया
श्री गुरु रामदास जी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा अम्रतसर

important FAQ

भारत में वायु परिवहन कब हुआ था?

भारत में वायु परिवहन के विकास का इतिहास 1911 ई. से प्रारंभ होता है। इस वर्ष इलाहाबाद से नैनी तक वायुयान द्वारा डाक शुरू की गयी थी।

वायु परिवहन का राष्ट्रीयकरण कब किया गया

वर्ष 1953 में सरकार ने इस क्षेत्र में कार्यरत 8 कंपनियों का राष्ट्रीयकरण किया तथा दो निगमों एअर इंडिया तथा इंडियन एयर लाइंस का गठन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exclusive content

- Advertisement -

Latest article

More article

- Advertisement -