- Advertisement -
GK/GSनीति आयोग : नीति आयोग के कार्य , संरचना ,उद्देश्य और स्वरुप...

नीति आयोग : नीति आयोग के कार्य , संरचना ,उद्देश्य और स्वरुप ( NITI aayog )

1 जनवरी 2015 को भारत सरकार द्वारा योजना आयोग के स्थान पर ‘ राष्ट्रीय परिवर्तन संस्थान ‘ नीति आयोग ( Niti Aayog ) का गठन किया गया। नीति आयोग सरकार के थिंक टैंक के रूप में सेवाएं प्रदान करने के साथ उसे निर्देशात्मक एवं नीतिगत गतिशीलता प्रदान करेगा। यह केंद्र और राज्य स्तरों पर सरकार को नीति के प्रमुख कारको के सम्बन्ध में प्रासंगिक , महत्वपूर्ण एवं तकनीकी परामर्श उपलब्ध कराएगा। भारत सरकार के अग्रणी नीतिगत थिंक टैंक के रूप में नीति आयोग का लक्ष्य राज्यों की सक्रीय भागीदारी के साथ राष्ट्रीय विकास का एक साझा दृष्टिकोण विकसित करना है। नीति आयोग केंद्र सरकार के नीति निर्माण में अग्रणी भूमिका निभा रहा है। एवं भारत सरकार की नीतियों और कार्यक्रमों के कार्यान्वयन में प्रगति का अन्वेषण करता है। यह संस्था राज्यों के साथ सतत आधार पर संरचनात्मक सहयोग और नीतिगत मार्गदर्शन के माध्यम से सहयोगपूर्ण संघवाद को बढ़ावा देती है।

नीति आयोग के कार्य

  • सहयोगपूर्ण संघवाद को बढ़ावा देना।
  • शंसाधन केंद्र और ज्ञान केंद्र के रूप में कार्य करना।
  • नीतियों और कार्यक्रमों की रूप रेखा तैयार करना।
  • कार्यो का अन्वेषण और मूल्यांकन करना।

नीति आयोग के उद्देश्य ( objectives of NITI Aayog )

राष्ट्रीय उद्देश्यों को ध्यान में रखते हुए राज्यों की सक्रिय भागीदारी के साथ राष्ट्रीय विकास प्राथमिकताओं , क्षेत्रों और रणनीतियों का एक साझा दृष्टिकोण विकसित करना।

सशक्त राज्य से सशक्त राष्ट्र का निर्माण , सहयोगपूर्ण संघवाद की बढ़ावा देना।

ग्राम स्तर पर योजनाओं का निर्माण करने हेतु तंत्र विकसित करना एवं इसे उत्तरोत्तर उच्च स्तर तक पहुँचाना।

आर्थिक प्रगति से वंचित रहे लोंगो पर विशेष ध्यान देना।

अंतर -क्षेत्रीय एवं अंतर विभागीय मुद्दों के समाधान हेतु एक मंच तैयार करना।

राजनितिक और दीर्धवधिक नीतियों तथा कार्यक्रमों का ढांचा तैयार करना।

नीति आयोग की संरचना ( composition of NITI Aayog )

  • नीति आयोग का पदेन अध्यक्ष ‘ भारत का प्रधानमंत्री होता है।
  • गवर्निग काउंसिल में सभी राज्यों के मुख्यमंत्री और संघ राज्य क्षेत्रों के उपराज्यपाल शामिल होंगे।
  • विशिष्ट्र मुद्दों और ऐसे आकस्मिक मामले , जिनका सम्बन्ध एक से अधिक राज्यों या क्षेत्रों से हो , को देखने के लिए क्षेत्रीय परिषदें गठित की जाएगी।
  • ये परिषदें विशिष्ट कार्यकाल के लिए बनाई जाती है।
  • भारत के प्रधान मंत्री की सलाह पर क्षेत्रीय परिषदों की बैठक होती है इस बैठक में सम्बंधित राज्य के राजयपाल और मुख्य मंत्री भी शामिल होते है।
  • सम्बंधित कार्य क्षेत्र की जानकारी रखने वाले विशेषज्ञ और कार्यरत लोग , विशेष आमंत्रित के रूप में नामित किये जाते है।
  • सचिवालय का गठन आवश्यकता नुसार किया जाता है।

नीति आयोग का संघटनात्मक स्वरूप

अध्यक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
गवर्निग काउन्सिल राज्यों के मुख्य मंत्री और संग राज्य क्षेत्रों के राज्यपाल
उपाध्क्ष डॉ राजीव कुमार ( प्रधानमंत्री द्वारा नियुक्त )
पूर्णकालिक सदस्य डॉ वी के सास्वत , प्रो रमेश चंद ,डॉ वी के पॉल
पदेन सदस्य श्री राजनाथ सिंह , श्री अमित शाह , श्री मति निर्मला सीतारमण , श्री नरेंद्र सिंह तोमर ,
मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अमिताभ कांत
आयोग की वेबसाइट http://www.niti.gov.in/

नीति आयोग के प्रथम अध्यक्ष कौन थे

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी

नीति आयोग के वर्तमान अध्यक्ष कौन है

श्री नरेंद्र मोदी

नीति आयोग के प्रथम उपाध्य्क्ष कौन थे

अरविन्द पनगड़िया

नीति आयोग के वर्तमान उपाध्य्क्ष कौन है

डॉ. राजीव कुमार

नीति आयोग की गवर्निग काउन्सिल में कौन -कौन होता है।

राज्यों के मुख्य मंत्री और संग राज्य क्षेत्रों के राज्यपाल

नीति आयोग के पदेन सदस्य कौन होते है।

श्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री
श्री अमित शाह, गृह मंत्री
श्रीमती निर्मला सीतारमण, वित्त मंत्री और कॉरपोरेट कार्य मंत्री
श्री नरेन्द्र सिंह तोमर; कृषि और किसान कल्याण मंत्री; ग्रामीण विकास मंत्री; पंचायती राज मंत्री।

नीति आयोग के पदेन अध्यक्ष कौन होते है।

भारत के प्रधानमंत्री

वर्तमान में नीति आयोग के वर्तमान मुख्य कार्यकारी अधिकारी कौन है

श्री अमिताभ कांत जी

नीति आयोग के कार्य क्या है।

सहयोगपूर्ण संघवाद को बढ़ावा देना।
शंसाधन केंद्र और ज्ञान केंद्र के रूप में कार्य करना।
नीतियों और कार्यक्रमों की रूप रेखा तैयार करना।
कार्यो का अन्वेषण और मूल्यांकन करना।

नीति आयोग का फुल फॉर्म क्या है।

National Institution for Transforming India

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exclusive content

- Advertisement -

Latest article

More article

- Advertisement -